Kya hamara desh Aajad hai? - PREFER4U

NEW

Wednesday, March 21, 2018

Kya hamara desh Aajad hai?

                                                                           

Kya hamara desh Aajad hai?


                                                                     

Kya hamara desh Aajad hai?

अंग्रेजो ने धर्म के नाम पर भारतवर्ष में हिन्द-ूमुस्लिम के बीच समरसता और प्रेम को छिन्न भिन्न किया अब देख रहा हूँ राजनेताओ ने सत्ता के लिये हिन्दू समाज को ही तोड़ने की साजिश कर दी है.. कभी ब्राह्मणवाद तो फिर राजपूतवाद फिर यदुवंशी क्यो पीछे रहे.. रही सही सही कसर देश की गंदी राजनीति ने दलित और महादलित नामकरण कर हिन्दू समाज का विशेष बतला कर.. अगड़ा पिछड़ा की सोंच की जन्म दे दी.. अब हर जाति का अपना डफली अपनी राग की शुरुवात हो चुकी है.. यानी हिन्दू समाज को शक्तिहीन बनाने की षड्यंत्र शुरू.
कहा तो जाता है की हम आजाद हैं, पर हम आज भी इन राजनेताओं के गुलाम हैं, जिस तरह अंग्रेजों ने हिन्दू मुस्लिम कर हमें आपस में लड़ाया और हमारे देश को गुलाम बनाया। हमारे देश को रोटी के टुकड़ों  की तरह बाँट दिए। ठीक उसी प्रकार ये राजनेता अपने वोटों के खातिर एक जाती को दूसरे जाती के खिलाफ भरका रहे हैं। और देश के टुकड़े करना चाहते हैं। याद रखना इन्हें जब भी मौका मिलेगा ये जाती के आधार पर अलग देश की मांग कर सकते हैं। तो अब भी समय है, पुरानी गलतियों से सीखो। आपस में प्रेम, भाईचारा बनाकर रखो। जो भी अच्छे लोग हैं उन्हें चुनो।

No comments:

Post a Comment